Bihar Board Class 6 Social Science Solutions History Aatit Se Vartman Bhag 1 Chapter 10 शहरी एवं ग्राम जीवन Text Book Questions and Answers, Notes.

BSEB Bihar Board Class 6 Social Science History Solutions Chapter 10 शहरी एवं ग्राम जीवन

Bihar Board Class 6 Social Science शहरी एवं ग्राम जीवन Text Book Questions and Answers

अभ्यास

आइए याद करें :

वस्तुनिष्ठ प्रश्न :

प्रश्न 1.
छोटे एवं स्वतंत्र किसानों को क्या कहा जाता था?
(क) ग्राम भोजक
(ख) श्रेणी
(ग) गृहपति
(घ) वेल्लार
उत्तर –
(ग) गृहपति

Bihar Board Class 6 Social Science History Solutions Chapter 10 शहरी एवं ग्राम जीवन

प्रश्न 2.
संगमकालीन (दक्षिण भारतीय) सम्पन्न किसानों को क्या कहा जाता था?
(क) ग्राम भोजक
(ख) कडैसियार
(ग) वेल्लार
(घ) उणवार
उत्तर-
(ग) वेल्लार

प्रश्न 3.
सुदर्शन झील का निर्माण सबसे पहले किसने करवाया ?
(क) चन्द्रगुप्त मौर्य
(ख)रुद्रदामन
(ग) स्कन्द गुप्त
(घ) अशोक महान
उत्तर-
(क) चन्द्रगुप्त मौर्य

प्रश्न 4.
संगमकालीन व्यापारिक नगर कौन नहीं है ?
(क) पुहार
(ख) उरैयूर
(ग) तोण्डी
(घ) कन्याकुमारी
उत्तर-
(क) पुहार

आइए चर्चा करें

प्रश्न 5.
लगभग 2500 साल पहले आन्तरिक व्यापार में कौन-कौन-सी कठिनाई आती होगी ?
उत्तर-
लगभग 2500 साल पहले लोग व्यापार वस्तुओं की अदला-बदली कर अर्थात् वस्तु को विनिमय प्रणाली से करते थे। गायों के लेन-देन से करते थे, जिससे लोगों को कठिनाईयाँ होती थीं। तब ६ रे-धीरे सिक्के का प्रचलन हुआ। सिक्के के प्रचलन से व्यापार आसान हो गया। सड़क और बन्दरगाह, आवागमन की सुविधा कम थी।

Bihar Board Class 6 Social Science History Solutions Chapter 10 शहरी एवं ग्राम जीवन

प्रश्न 6.
आपके गाँव में आज खेती कैसे की जाती है ? प्रयुक्त होने वाले 5 औजारों के नाम लिखें।
उत्तर-
कुदाल, खुरपी, हसुंआ, फाल, ट्रैक्टर का प्रयोग होता है।

प्रश्न 7.
आज सिंचाई की कौन-कौन-सी पद्धति अपनायी जाती है। तुलना करें। प्राचीनकाल में आज की कौन-सी पद्धति नहीं अपनायी जाती थी?
उत्तर-
पहले कुआँ, रेहट, तालाब , नहरों से सिंचाई की व्यवस्था थी और आज भी है। लेकिन आज बिजली के आविष्कार ने ट्युबबेल का निर्माण किया। जमीन के अन्दर से ट्यूबबेल द्वारा पानी आसानी से पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध करते हैं जो पहले नहीं था।

आओ करके देखें 

प्रश्न 8.
आप अगर शिल्पकार को काम करते हुए देखते हैं तो उनके बारे में लिखें कि वे कैसे काम हैं? उनके द्वारा बनाये गये पाँच औजारों के नाम लिखें।
उत्तर-
शिल्पकार मेहनती होते हैं। एकाग्रता से काम करते हैं। रथ, कुदाल, मिट्टी की सुराही, लकड़ी का फर्निचर।

Bihar Board Class 6 Social Science History Solutions Chapter 10 शहरी एवं ग्राम जीवन

प्रश्न 9.
पाटलीपुत्र के लोग कौन-कौन से कार्य करते थे? गाँव के लोगों से उनका व्यवसाय किस प्रकार भिन्न था?
उत्तर-
पाटलीपुत्र के लोग व्यापार करते थे। शिक्षा का केन्द्र था। लोहार, बढ़ई, रथकार, अस्त्र-शस्त्र बनाने वाले रहते । पक्के मकानों में रहते। लेकिन गाँवों में लोग कच्चे मकानों में रहते, खेती का काम करते, पशुपालन करते और उत्पादन को शहर में लाकर बेचते थे।

प्रश्न 10.
आप भारत से रोम को निर्यात एवं आयात होने वाली तीन-तीन वस्तुओं की सूची बनायें।
उत्तर-
भारत से रोम जाने वाली वस्तु, मशाला, काली मिर्च और समुद्र और पहाड़ियों सर्लभ वस्तु के आयात शराब, दीपक और सोना।

वर्ग परिचर्चा

प्रश्न 1.
क्या राजा सिंचाई की व्यवस्था करके अधिक राजस्व प्राप्त करने का अधिकारी था ?
उत्तर-
हाँ,राजा सिंचाई की व्यवस्था करके अधिक राजस्व प्राप्त करने का अधिकारी था । ऐसा इसलिए कि यदि राजा को अधिक राजस्व मिलेगा तो प्राप्त धन को दूसरे क्षेत्रों में प्रजा की भलाई के लिए विकास करेगा।

Bihar Board Class 6 Social Science History Solutions Chapter 10 शहरी एवं ग्राम जीवन

प्रश्न 2.
गाँव के लोगों का जीवन कैसा था?
उत्तर-
गाँव के लोगों के जीवन में धन की कमी थी, किसान और मजदूर वर्ग के लोग ज्यादा थे। किसान को अपने उत्पादन का चौथा या . छठा हिस्सा ‘कर’ के रूप में देना पड़ता था।

प्रश्न 3.
पाटलीपुत्र में लोग कौन-कौन से व्यवसाय से जुड़े हुए थे । आप उनकी सूची, बनायें।
उत्तर-
पाटलीपुत्र में लोग अस्त्र-शस्त्र बनाने वाले बढ़ई. लोहार. शिल्पकार, सोनार, बुनकर आदि निवास करते थे।

Bihar Board Class 6 Social Science शहरी एवं ग्राम जीवन Notes

पाठ का सारांश

  • दक्षिण भारत के बड़े किसानों को वेल्लाल कहा जाता था तथा छोटे किसान को उणवार कहा जाता था।
  • महाजनपदों की राजधानियां भी प्रायः परकोटे या बाहरी दीवारों से घिरे होते थे।
  • विदेशी शक्तियों के भारत आगमन के कारण व्यापार-वाणिज्य में वृद्धि से सिक्कों का प्रचलन बढ़ा।
  • शहर कई गतिविधियों के केन्द्र हुआ करते थे, शहर में व्यापार, वाणिज्य,
  • धर्म, शिक्षा आदि के केन्द्र के रूप में विकसित थे।
  • दक्षिण भारत में दूसरी शताब्दी ई०पू० से लेकर दूसरी शताब्दी तक का
  • काल संगम काल के नाम से जाना जाता है।
  • संगमकालीन भारत के तटीय शहरों तोण्डी; मुजरिश, पुहार, अरिकमेडु में यवन व्यापारी काफी संख्या में रहते थे।
  • लोहे के औजारों का कृषि के क्षेत्र में प्रयोग से खेती का विकास संभव हो सका।
  • सुदर्शन झील का निर्माण सर्वप्रथम चन्द्रगुप्त मौर्य ने करवाया था, यह गुजरात में स्थित है।
  • सुदर्शन झील से सिंचाई के लिए नहरें निकाली गई।
  • सिंचाई एवं औजारों के प्रयोग से अनाज का उत्पादन बढ़ा।
  • हमें शहरों की अपेक्षा गांवों के बारे में अपेक्षाकृत कम जानकारी प्राप्त है।
  • गांव में सबसे प्रभावशाली व्यक्ति गांव का मुखिया होता था। जिसे ग्रामभोजक भी कहा जाता था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *